Sunday, October 24, 2021
Homeदाती महाराज रेप केसः जांच में लचर रवैये पर कोर्ट की CBI...
Array

दाती महाराज रेप केसः जांच में लचर रवैये पर कोर्ट की CBI को फटकार

  • CN24NEWS-23/01/2019
  • Rape Case Daati Maharaj दिल्ली की साकेत अदालत ने दाती महाराज मामले को लेकर सीबीआई को फटकार लगाई है. दाती महाराज पर उनके ही आश्रम की एक महिला से बलात्कार जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं. इससे पहले अदालत ने दाती महाराज को जमानत दे दी है.

  • दाती महाराज के खिलाफ बलात्कार मामले की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) को दिल्ली की साकेत अदालत ने कड़ी फटकार लगाई है. दाती महाराज केस की अब तक की जांच में लचर रवैया अपनाने के लिए कोर्ट ने सीबीआई को यह फटकार लगाई है. आपको बता दें कि दाती महाराज पर उनके ही आश्रम की एक महिला से बलात्कार जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं. इस मामले में एफआईआर दर्ज हुए एक साल से ज्यादा का वक्त बीत चुका है, लेकिन अभी तक दाती महाराज की गिरफ्तारी तक नहीं हुई है. दिल्ली की साकेत कोर्ट ने पूछा कि हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद 3 महीने के भीतर सीबीआई ने अपनी जांच पूरी करके कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट क्यों नहीं दी.

    सीबीआई बुधवार को भी कोर्ट से इस मामले में समय की मांग कर रही थी, लेकिन कोर्ट ने इससे साफ इनकार कर दिया. कोर्ट इस बात पर भी नाराज था कि पिछले साल 3 अक्टूबर को हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश दिए थे, जिसमें 3 महीने के भीतर जांच पूरी करने को कहा गया था. यह मियाद 3 जनवरी को खत्म भी हो गई, लेकिन अभी तक सीबीआई की तरफ से मामले में दाती महाराज की कस्टोडियल इंटेरोगेशन तक के लिए कोर्ट में कोई अर्जी नहीं आई है.

    इससे पहले मामले में दाती महाराज पहली बार साकेत कोर्ट के सामने पेश हुए और कोर्ट ने एक लाख रुपये के मुचलके पर दाती महाराज को जमानत दे दी. दिल्ली की साकेत कोर्ट ने दाती के साथ-साथ उनके तीन भाइयों को भी जमानत दे दी है. इस मामले में दिल्ली पुलिस पहले ही अपनी चार्जशीट साकेत कोर्ट में दाखिल कर चुकी है. चार्जशीट पर साकेत कोर्ट की तरफ से संज्ञान भी लिया जा चुका है. दाती महाराज को कोर्ट में पेश होने के लिए समन किया गया था. दाती महाराज को कोर्ट से मिली जमानत की एक बड़ी वजह यही है कि जांच एजेंसी चाहे वह दिल्ली पुलिस रही हो या फिर कोई अपनी पुख्ता जांच कर दाती महाराज के खिलाफ ठोस चीज़ें कोर्ट के सामने पेश नहीं कर पाई हैं.

    इस मामले में पीड़िता ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा था कि दिल्ली पुलिस मामले को कमजोर करने की कोशिश कर रही है और दाती महाराज को बचाया जा रहा है, जिसके बाद सीबीआई को मामले की जांच सौंप दी गई थी. इस मामले की अगली सुनवाई अब साकेत कोर्ट 8 फरवरी को करेगा. माना जा रहा है कि कोर्ट की इस फटकार के बाद अब सीबीआई इस मामले में गंभीरता दिखाएगी और जल्द से जल्द चार्जशीट दाखिल करेगी.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments